.

.

शहर या देहात, दिन हो या रात, यूपी 100 है सबके साथ

एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली के लोकापर्ण

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा एवं नेता सदन विधान परिषद अहमद हसन ने कहॉ कि पुलिस की कार्यप्रणाली एवं लेटलतीफी को लेकर जनसामान्य में बनी भ्रान्तियॉ अब बदल जायेगी। क्योंकि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने 1862 से लागू पुलिस एक्ट में पहली बार उसका आधुनिकीकरण करते हुए एकीकृत आपातकालीन प्रबंधन प्रणाली 19 नवमबर से प्रदेश के 10 महानगरो में लागू कर दिया है। जिसका लोकापर्ण 19 नवम्बर को हो गया है। पुलिस को आधुनिकीकरण किये जाने के दौरान पुलिस को पूरे प्रदेश में 3200 इनोवा एवं 1800 मोटरसाइकिल सहित 5000 वाहन उपलब्ध कराया गया है। पुलिस आधुनिकरण पर उत्तर प्रदेश सरकार 2200 करोड़ की धनराशि व्यय की है। ये सभी वाहन जीपीएस, आधुनिक वायरलेस सेट आदि से लैस है। इतना ही नही शहरी क्षेत्र में 15 एवं दुरूस्त ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतम 20 मिनट में पुलिस मय बैन नागरिको द्वारा 100 नं0 डायल करने के पश्चात् पहूॅच जायेगी।
उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा एवं नेता सदन विधान परिषद अहमद हसन शनिवार को स्थानीय पुलिस लाइन में आयोजित ‘‘शहर या देहात, दिन हो या रात, यूपी 100 है सबके साथ’’ एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली के लोकापर्ण अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में लोगो को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होने कहॉ कि एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली को दुनिया की सबसे बड़ी योजना बताते हुए कहॉ कि निश्चित रूप से अब लोगो की भ्रान्तियॉ पुलिस के लेटलतीफी को लेकर बदलेगी। क्योंकि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सबकी सुरक्षा एवं संरक्षा के अपने वायदे को पूरा करते हुए ‘‘यूपी 100’’ योजना का आज से लागू कर दी है और इसके उद्देश्यपूर्ण क्रियान्यवित किये जाने हेतु पुलिस को 5000 वाहन भी उपलब्ध कराया है। उन्होने विश्वास व्यक्त करते हुए कहॉ कि आगामी 6 माह में निश्चित रूप से लोगो के विचार बदलेगे और उत्तर प्रदेश पुलिस एक आदर्श पुलिस के रूप में अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए आम नागरिको के मंशानुरूप खरी उतरेगी। एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली तहत वाराणसी को 54 चार पहिया वाहन मिले है। जिसमें से 31 शहरीय क्षेत्र हेतु और 20 ग्रामीण क्षेत्र तथा 3 रिजर्व शामिल है। उन्होने जोर देते हुए कहॉ कि आज लोगो का सपना साकार हो रहा है तथा मुख्यमंत्री ने शहरो में 24 एवं गॉवों में 18 घंटे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराकर चमत्कार कर दिया है। मेट्रो सिटी बन गया और मेट्रो ट्रेन भी प्रदेश में पहूॅच चुकी है। शीघ्र ही लखनऊ में मेट्रो ट्रेन चलने भी लगेगी। उन्होने मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों का आहवान् किया कि वे अपने अथाह शक्ति के साथ अथाह जिम्मेदारी का निर्वहन कर प्रदेश सरकार की मंशा को फलीभूत करते हुए नागरिको की सुरक्षा एवं संरक्षा सुनिश्चित करे। 
उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण विभाग, सिचाई एवं जल संसाधन राज्य मंत्री सुरेन्द्र पटेल ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहॉ कि पुलिस व्यवस्था में सुधार की बात तो सभी करते है, लेकिन अब तक इस दिशा में किसी ने भी कोई कार्य नही किया। लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अपना वायदा निभाते हुए पुलिस का आधुनिकरण कर ‘‘शहर या देहात, दिन हो या रात, यूपी 100 है सबके साथ’’ एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली को लागू कर दिया है। निश्चित रूप से आम जनमानस विशेषकर महिलाओं की सुरक्षा में यूपी 100 मिल का पत्थर साबित होगा। 
कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि ‘‘शहर या देहात, दिन हो या रात, यूपी 100 है सबके साथ’’ एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली लागू हो जाने तथा जिले को 54 नये वाहनों को प्राप्त हो जाने से अब अपराधियों की शामत आ गयी है। निश्चित रूप से अपराधी इससे डरेगे और पुलिस पूरे मनोयोग से अपने दायित्वों का निवर्हन करेगी। उन्होने अपने आईपीएस कैडर के दौरान अपने तीन सल्ला पुलिसिया अनुभव का जिक्र करते हुए कहॉ कि वही पुराने वाहन और वही पुरानी व्यवस्था अब तक चल रहा था। लेकिन 1862 से लागू पुलिस एक्ट एवं व्यवस्था को उत्तर प्रदेश में पहली बार 154 वर्ष बाद आधुनिकीकरण किया गया है। निश्चित रूप से स्मार्ट पुलिस, पुलिस पेट्रोलिग की अब जब भी लोग चर्चा करेगे, तो उसमें उत्तर प्रदेश पुलिस की भी अब चर्चा होगी। क्योंकि इससे पूर्व उ0प्र0 पुलिस की चर्चा इन मुद्दो पर नही होती रही। 
आईजी एस0के0भगत ने कहॉ कि उत्तर प्रदेश की जनसंख्या 20 करोड़ है, जो पूरे विश्व में 10 वें स्थान पर है। उन्होने कहॉ कि डायल 100 विश्व में कही भी नही है। पुलिस को आधुनिकीकरण करनें के लिये लखनऊ बना वेसकेन्द्र 11 माह के रिकार्ड अवधि में बनकर कार्य करने लगा है। जिसमें 5500 पुलिस कर्मी बैठकर पूरे प्रदेश के यूपी 100 नम्बर की मानीटरिंग करते रहेगें। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहॉ कि पुलिस अधुनिक हो गयी और उसका कार्य भी लोगो को अब देखने को मिलने लगेगा। उन्होने बताया कि जिले को प्राप्त 54 इनोवा वाहन रविवार को सायं से पूरी तरह क्रियाशील हो जायेगे और शहर में मात्र 15 मिनट तथा सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतम 20 मिनट में यूपी 100 पर टेलीफोन करते ही पुलिस पीड़ित के दरवाजे पर मौजूद मिलेगी।
जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र ने कहॉ कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने पुलिस को और भी सार्थकता प्रदान करने तथा आमजनमानस की सुरक्षा एवं संरक्षा की जो महान् परिकल्पना की थी, वह आज ‘‘शहर या देहात, दिन हो या रात, यूपी 100 है सबके साथ’’ एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली लागू होने से फलीभूत हुआ है। उन्होने कहॉ कि पुलिसिंग, पेट्रोलिग एवं अपराध कन्ट्रोलिग के मामले में अब तक दिल्ली, मुम्बई आदि प्रान्तो के पुलिस की चचा्र होती थी, किन्तु अब उत्तर प्रदेश पुलिस की भी चर्चा इन संदर्भो में निश्चित रूप से होगा। निश्चित रूप से अपराध नियंत्रण एवं जनसामान्य को सुरक्षा प्रदान करने में ‘‘शहर या देहात, दिन हो या रात, यूपी 100 है सबके साथ’’ एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली कारगर साबित होगी।
एसएसपी नितिन तिवारी ने कहॉ कि नागरिको की सुरक्षा उच्च स्तरीय आपातकालीन सेवायें प्रदान किया जाना मुख्यमंत्री की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। कुछ समय पहले इलाहाबाद, गाजियाबाद, कानपुर और लखनऊ जनपदों में स्थापित पुलिस नियंत्रण कक्षों का आधुनिकीकरण किया गया, जिसके बहुॅत अच्छे परिणाम आये। इस प्रकार की उच्च स्तरीय जन सुरक्षा सेवाओं का विस्तार सम्पूर्ण प्रदेश के नगरीय एवं सुदूरवर्ती ग्रामीण अंचलों में करने के उद्देश्य से एक वृहद राज्यव्यापी यूपी-100 पुलिस इमरजेन्सी मैनेजमेंट सिस्टम परियोजना की परिकल्पना मुख्यमंत्री द्वारा किया गया। और यह गर्व का विषय है कि इस विश्वस्तरीय परियोजना कि क्रियान्वयन के प्रथम चरण का शुभारम्भ प्रदेश के लखनऊ, वाराणसी, इलाहाबाद, कानपुर, बरेली, आगरा, मेरठ, गोरखपुर, मुरादाबाद, झॉसी एवं रामपुर सहित 11 जनपदों में आज 19 नवम्बर से किया गया। उन्होने परियोजना के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहॉ कि उत्तर प्रदेश में कही भी, किसी भी समय सभी व्यक्तियों, जिनमें दिव्यांग भी सम्मिलित है, की सुरक्षा एवं संरक्षा के लिये त्वरित एकीकृत आपातकालीन सेवायें प्रदान किया जाना है। उन्होने बताया कि इस परियोजना के अर्न्तगत जनपद लखनऊ में प्रदेश स्तरीय केन्द्रीय मास्टर कोआर्डिनेटर सेण्टर के रूप में एक वृहद यूपी-100 कॉल सेन्टर की स्थापना की गई है, जो देश का सबसे बड़ा पुलिस कॉल सेण्टर है। पूरे प्रदेश में यह व्यवस्था लागू होने पर किसी भी क्षेत्र से किसी भी फोन से 100 नम्बर डायल करने पर टेलीुोन सीधे इस केन्द्र में प्राप्त होगा। सूचना प्राप्त होने पर इसी सेण्टर से घटना के निकटतम चार पहिया एवं दो पहिया वाहनों की आवश्यकतानुसार रवाना किया जायेगा। प्रत्येक वाहन पर 24 घण्टे अनवरत् कम से कम 3 पुलिस कर्मी उपलब्ध रहेगें। उन्होने बताया कि इस वाहनों का स्थान की संवेदनशीलता के अनुसार इनके थाना क्षेत्र में एक बेस केन्द्र बना कर सम्पूर्ण शिफ्ट का रूट चार्ट निर्धारित किया गया है, जिसके अनुसार प्रत्येक 02-02 घण्टे पर ये अलग-अलग नियत स्थानों पर उपस्थित रहेगें। जिसकी लोकेशन जीपीएस के माध्यम से केन्द्रीय नियंत्रण कक्ष लखनऊ तथा स्थानीय नियंत्रण कक्ष पर प्रदर्शित होगी। इन वाहनों में लगे मोबाइल डेटा टर्मिनल में घटना स्थल पर पहूॅचने का रूट मैप प्रदर्शित होगा, जिसके अनुसार ये वाहन घटना स्थल पर त्वरित रूप से पहूॅचकर नागरिको को आकस्मिक सहायता उपलब्ध करायेंगे तथा घटना के संबंध में की गई कार्यवाही की ऐक्शन टेकन रिर्पोट स्टेट कण्ट्रोल रूम, लखनऊ भेजेगें। 
तत्पश्चात् उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा एवं नेता सदन विधान परिषद अहमद हसन ने हरी झण्डी दिखाकर ‘‘शहर या देहात, दिन हो या रात, यूपी 100 है सबके साथ’’ एकीकृत आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली से लैंस 54 पुलिस वाहनों को नागरिको की सुरक्षा एवं संरक्षा में तत्पर रहने हेतु रवाना किया। इस मौके पर उन्होने गत् दिनों ओलावृष्टि से प्रभावित 138 व्यक्तियों प्रतीक के रूप में 6 लोगो को चेक प्रदान कर आर्थिक सहायता प्रदान की। मंत्री अहमद हसन ने जिला नगरीय विकास अभिकरण डूडा द्वारा निजी स्वामित्व के 116 पात्र रिक्शा चालको से उनकी मानव चालित रिक्शा लेकर उन्हे मोटर/बैटरी चालित अत्याधुनिक सिस्टम से निर्मित ई-रिक्शा मुफ्त में प्रदान की। मौके पर उन्होने प्रतीकात्मक 6 रिक्शा स्वामियोकं को ई-रिक्सा के कागजात प्रदान किया।     
  इस अवसर पर सपा के वरिष्ठ नेता शतरूद्र प्रकाश, पूर्व मंत्री मनोज राय धूपचण्डी, रिबू श्रीवास्तव, महानगर अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल सहित अन्य पदाधिकारी एवं अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।
साभार :- सूचना विभाग वाराणसी

डायल यूपी 100 वाहन एवं हरी झंडी दिखाते मंत्री जी
Previous
Next Post »
Thanks for your comment

VIP Breaking...