.

.

जब पत्रकारों की चली कलम तो नोट बदलने वाले दलालों की हुई छुट्टी

पीपीपी के पत्रकारों को सलाम

वाराणसी। प्रधानमंत्री द्वारा नोट बंदी के बाद जहाँ आमजन और गरीब जनता परेशान है वहीं बैंक और नोट बदल कर पैसा कमाने वाले भी सक्रिय हैं और बट्टा पर पैसा बदलकर गरीब जनता को ठग रहे हैं। ऐसा ही एक मामला कई दिनों से वाराणसी जनपद के कपसेठी थाना क्षेत्र में देखने को मिल रहा था। जिसको लेकर पीपीपी के पत्रकार सक्रीय हुए तो पुलिस ने भी सक्रियता दिखायी।

फिर जो हुआ वह पढ़िए घनश्याम पाठक जी के कलम से....
कपसेठी थाना क्षेत्र के एसबीआई कपसेठी में बैंककर्मी व गार्ड के सहयोग से वर्चस्व वाले नोट निकासी करने के बाद बाहर आकर कमीशन पर नोट चेंज कर रहे थे।एक हजार के नोट पर आठ सौ रूपये बदलने के मामले में कपसेठी थानाध्यक्ष अखिलेश कुमार मिश्रा ने प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए आज बीएसबी बैंक कपसेठी पर पहुंच कर बैंक मैनेजर के साथ बैंक कर्मियो को कड़ी हिदायत दी।थानाध्यक्ष के तल्ख़ तेवर से बैंक में हड़कंप मच गया और आनन फानन में बैंक मैनेजर बीड़ी सिंह ने थानाध्यक्ष के तल्ख़ तेवर पर आज अपराह्न बैंक में एक आपात बैठक बुला कर सभी बैंक कर्मियो के साथ बैंक के गार्ड की नकेल कसी।जिससे बैंककर्मियो के साथ दलालो में हड़कंप मचा है। मामले की पुष्टि बैंक मैनेजर ने की।

(घनश्याम पाठक जी वाराणसी जनपद के वरिष्ठ पत्रकार और  पत्रकार प्रेस परिषद के जिला अध्यक्ष/मंडल प्रभारी हैं)

Previous
Next Post »
Thanks for your comment

VIP Breaking...