.

.

पैसा नही मिलने से परेशान महिला लगी रोने, बैंक रहे कैशलेस

ग्रामीण क्षेत्रों मे लगभग सभी बैंक रहे कैशलेस,ग्राहक हुए परेशान 

रिपोर्ट :- नागेंद्र यादव
वाराणसी। नोटबंदी के बाद से पैसे की किल्लत से जूझ रही ग्रामीण क्षेत्रों की जनता को शनिवार को भी राहत नही मिली ज्यादातर बैंकों मे कैश न होने से केवल पुराने पैसा को जमा करने वाले ही बैंकों मे दिखे l आयर बाजार स्थित काशी गोमती सम्युत ग्रामीण बैंक की शाखा मे पैसा निकालने आयी भारती देवी को जब पता चला कि बैंक मे पैसा नही है तो वह परेशान हो गयी l पैसा न मिलने पर भारती रोने लगी, बकौल भारती वह दो दिनो से बैंक का चक्कर काट रही हैं लेकिन मुझे पैसा नही मिला l वह शनिवार को अपने पति कमलेश के साथ सुबह से ही बैंक के बाहर खड़ी थी,जब बैंक खुला तो कर्मचारियों ने बताया की बैंक मे कैश नही होने के कारण आज पैसा नही मिलेगा l बैंक मे पैसा न होने की बाट सुनते ही भारती घबरा उठी और बैंक कर्मचारियों से पैसा देने की मिन्नतें करने लगी उनके पति ने भी काफी मिन्नत की लेकिन कैश न होने की वजह से बैंक ने हाथ खड़े कर दिये l भारती का कहना था कि उनकी सास मरजादी देवी (70) के पैर की हड्डी टूट गयी है लेकिन पैसा न होने की वजह से वह उनकी सही ढंग से इलाज भी नही करा पा रही हैं l उनका कहना है की घर मे पैसा नही है खाते से पैसा नही निकल पा रहा है जिससे कूछ समझ मे नही आ रहा है की क्या करूँ l भारती के पति कमलेश घर पर ही खेती वाड़ी का काम करते हैं जो भी पैसा था बैंक मे जमा किये थे अब ज़रूरत पर पैसा नही मिल पा रहा है l वही इस बावत बैंक मैनेजर पी के सिंह से बाट करने पर उन्होने बताया कि यू बी आई करेंसी चेष्ट से कैश नही दे रहा इसी वजह से ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है l शनिवार को लगभग सभी ग्रामीण क्षेत्रों के बैंकों मे कमोबेश ऐसी ही स्थिति रही,कैश न होने से जहाँ पैसे निकालने आये लोग बैंकों कोसते हुए चले गये तो पैसा जमा करने वाले लोग भी कम ही दिखे l
(नागेंद्र कुमार यादव जी वाराणसी से प्रकाशित ख़बर विज़न हिन्दी दैनिक के पत्रकार हैं।)

Previous
Next Post »
Thanks for your comment

VIP Breaking...