.

.

अपनी पत्नी से बोलकर गये थे जल्द ही लौटकर आउंगा

अपनी पत्नी से बोलकर गये थे जल्द ही लौटकर आउंगा
वाराणसी। जम्मू—कश्मीर के गुरेज सेक्टर में 25 जनवरी को हुए हिमस्खलन के दौरान शहीद हुए सेना के सेना नायक अजीत सिंह का पार्थिव शरीर बुधवार को दोपहर बाद सेना के विशेष विमान से लाल बहादुर शास्त्री अन्तर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर लाया गया। हवाईअड्डे पर उनके साथ प्रतापगढ़ के रानीगंज थाना क्षेत्र के विजय शुक्ल का भी पार्थिव शरीर लाया गया है।

मालूम हो कि पिछले सप्ताह 25 जनवरी को जम्मू—कश्मीर के गुरेज सेक्टर में आर्मी पोस्ट और पेट्रोलिंग पार्टी के जवान हिमस्खलन की चपेट में आ गये थे जिनमें आजमगगढ़ जनपद के तरवां थाना क्षेत्र के जमीरपुर निवासी सेना नायक अजीत सिंह भी शहीद हो गये थे। परिजनों ने बताया कि अजीत सिंह दिसम्बर माह में घर आये थे और ड्यूटी पर जाते समय पत्नी प्रियंबदा से बोलकर गये थे कि जल्द ही वापस आयेंगे। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। अजीत सिंह के पिता अनिरूद्ध सिंह भी सेना में ही थे और वे रिटायर हो चुके हैं। जबकि उनके बड़े भाई सुनील सिंह घर पर ही रहकर खेती बारी करते हैं। शहीद जवान अजीत सिंह के दो बेटे हैं। बड़ा बेटा आर्यन जो की आठवीं में पढ़ता है जबकि छोटा बेटा अंश छठीं कक्षा में पढ़ता है।

Previous
Next Post »
Thanks for your comment

VIP Breaking...